Site icon The Bhaukaal

खून से शुगर को चूस लेगा लाल रंग का यह दुर्लभ पत्ता, डायबिटीज हमेशा रहेगा कंट्रोल में, होंगे कई और फायदे

Red Spinach Lower Sugar Spike: डायबिटीज के मरीज, जबकभी वे ज्यादा ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाली चीजें खाते हैं, उनका ब्लड शुगर तुरंत बढ़ जाता है। इसलिए डॉक्टर हमेशा यह सलाह देते हैं कि डायबिटीज के मरीजों को खान-पान में सावधानी बरतनी चाहिए। यह इसलिए है क्योंकि डायबिटीज एक जीवनशैली संबंधित बीमारी है, जिसे सही जीवनशैली के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है। ऐसे में, आपके ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने में कुछ आहार उपयोगी हो सकते हैं। लाल पालक एक ऐसी सब्जी है जो ब्लड शुगर को त्वरित तरीके से नियंत्रित करने में मदद कर सकती है। लाल पालक इंसुलिन के प्राकृतिक उत्पादन को बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसमें कई पोषक तत्व होते हैं और यह विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स भी प्राप्त कराता है, जो कई बीमारियों से लड़ने में मदद कर सकते हैं। लाल पालक में एंथोसायनिन एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं, जिसके कारण पालक का रंग लाल होता है, और इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है।

इस तरह करता है ब्लड शुगर कम

इंडियन एक्सप्रेस के एक खबर के मुताबिक डॉक्टरों ने बताया है कि लाल पालक में कई अतिरिक्त योगिकाएँ होती हैं जो शुगर को तेजी से अवशोषित करने में मदद करती हैं। इसमें डायट्री फाइबर की अधिक मात्रा होती है, जिसके कारण यह ग्लूकोज को धीमे गति से अवशोषित कर लेती है और ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद करती है। साथ ही, लाल पालक में फ्लेवोनॉएड्स जैसे पौधों के रसायन होते हैं, जिनमें डायबिटीज को नियंत्रित करने में मददगार गुण होते हैं। भुवनेश्वर के केयर हॉस्पिटल के वरिष्ठ आहार विज्ञानी गुरु प्रसाद दास ने बताया कि लाल पालक शुगर के अवशोषण को धीमा करता है, जिससे खून में शुगर की मात्रा अचानक नहीं बढ़ती।

लाल पालक के अन्य फायदे

लाल पालक में विटामिन ए की भरपूर मात्रा होती है, जिससे यह आंखों के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। साथ ही, इसमें विटामिन सी भी होता है, जो शरीर की प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ावा देता है। लाल पालक में पर्याप्त मात्रा में आयरन भी होता है, जिससे यह हेल्दी रक्त कोशिकाओं को बढ़ावा देता है और इससे शरीर में ऊर्जा की कमी नहीं होती। लाल पालक में एंटीऑक्सीडेंट्स की मौजूदगी के कारण यह फ्री रेडिकल्स को कम करता है, जिससे ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस कम होता है और इससे कई क्रोनिक बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। लाल पालक में डाइट्री फाइबर के कारण यह पाचन को सुधारता है।

Exit mobile version