Saturday, April 13, 2024
लाइफ़स्वास्थ्य

जुड़वा बच्‍चे (Twin Baby) क्यों होते हैं? गायनेकोलॉजिस्‍ट से जानें प्रेगनेंसी में इसके लक्षण

गर्भावस्था किसी भी महिला के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण समय होता है। बच्चे को जन्म देने के बाद माता-पिता की खुशी देखते ही बनती है। घर में शिशु के जन्म का माहौल ही बेहद खुशनुमा होता है। अगर कहीं किसी महिला के जुड़वा बच्चे हो जाएं तो ये खुशी और बढ़ जाती है। अब मन में यह सवाल उठता है कि आखिर जुड़वा बच्चे होते कैसे हैं? हमारे बीच जुड़वा बच्चों को लेकर तमाम तरह के मिथ प्रचलित हैं और अलग-अलग लोग इसको लेकर अलग तरह से सोचते हैं। कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि जुड़वा बच्चे किसी तरह की कमी या परेशानी के कारण होते हैं। आज इस जानते हैं जुड़वा बच्चे कैसे होते हैं और प्रेगनेंसी के दौरान जुड़वा बच्चे होने पर क्या लक्षण दिखाई देते हैं।

जुड़वा बच्चे क्यों होते हैं?- What Causes Twins Baby in Hindi

जुड़वा बच्चे होने के लिए कई तरह के कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। परिवार की आनुवांशिक स्थिति, फर्टिलिटी ट्रीटमेंट, आदि के कारण भी एक महिला जुड़वा बच्चे को जन्म दे सकती है। इसके अलावा, स्त्री और प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. विजय लक्ष्मी के अनुसार, जब भ्रूण बनाने के लिए फर्टिलाइज एग तक स्पर्म पहुंचता है, और गर्भाशय में दो अंडे मौजूद होते हैं, तो महिला के जुड़वा बच्चे को जन्म देने के चांस बढ़ जाते हैं। जुड़वा बच्चे दो तरह के होते हैं, एक दोनों एक दूसरे से अलग दिखने वाले, जिन्हें मेनोजाइगोटिक कहते हैं और दूसरे जो एक दूसरे जैसे दिखने वाले डायजाइगोटिक। ऐसे बच्चों की आनुवांशिक संरचना बिलकुल एक जैसी होती है और एक दूसरे जैसे दिखने वाले जुड़वा बच्चे एक ही एग से स्पर्म द्वारा फर्टिलाइज होते हैं।

प्रेगनेंसी में जुड़वा बच्चे होने के लक्षण- Twins Pregnancy Symptoms in Hindi

महिला में प्रेगनेंसी के दौरान दिखने वाले लक्षणों से भी गर्भ में जुड़वा बच्चों के होने का पता चल सकता है। प्रेगनेंसी में जुड़वा बच्चे होने पर ये लक्षण दिखाई देते हैं-

1. ब्लीडिंग और स्पॉटिंग

गर्भावस्था के दौरान गर्भ में जुड़वा बच्चे होने पर महिला को ब्लीडिंग और स्पॉटिंग सामान्य की तुलना में ज्यादा होती है। अगर प्रेगनेंसी के दौरान ब्लीडिंग ज्यादा होती है और साथ में बुखार भी आता है तो इसे गर्भ में जुड़वा बच्चों के होने का संकेत माना जाता है।

2. बहुत ज्यादा भूख लगना

गर्भ में जुड़वा बच्चों के होने की वजह से गर्भावस्था में महिला को सामान्य से ज्यादा भूख लगती है। इसकी वजह से आपको बार-बार भूख लगेगी और खाने का मन ज्यादा करेगा। सामान्य रूप से गर्भवती महिला को इतनी ज्यादा भूख नहीं लगती है।

3. वजन बढ़ना

जुड़वा प्रेगनेंसी होने पर महिला का वजह भी बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। गर्भ में जुड़वा बच्चे होने पर आपके दो भ्रूण, दो प्लेसेंटा और एमनियोटिक लिक्विड ज्यादा रहते हैं। इसकी वजह से महिला का वजन ज्यादा बढ़ जाता है।

4. मॉर्निंग सिकनेस

गर्भ में जुड़वा बच्चे होने की वजह से महिला को मॉर्निंग सिकनेस की समस्या भी ज्यादा होती है। इसकी वजह से महिला को सुबह उठने पर ज्यादा दर्द और कमजोरी का अहसास हो सकता है।

5. दो दिल होना

गर्भवती महिलाएं गर्भ में पल रहे शिशु की धड़कन ज़रूर सुनती हैं। यह अनुभव उनके लिए बहुत यादगार भी होता है। अगर आपको गर्भ में दो अलग-अलग दिल की धड़कन सुनाई देती है तो आप इससे भी जुड़वा बच्चों के होने का पता कर सकती हैं।

जुड़वा बच्चे होना किसी तरह की कमजोरी या परेशानी नहीं बल्कि एक तरह की जीव वैज्ञानिक स्थिति है। अगर आप भी जुड़वा प्रेगनेंसी में हैं तो सही समय पर डॉक्टर की सलाह लें और उचित देखभाल करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *